शनिवार, 9 जुलाई 2011

दिल्ली यूनिवर्सिटी में ओबीसी कोटा पूरी तरह लागू करो

आज कल नियम तो बनाते हैं पर उनका अनुपालन नहीं होता जिसका सबसे बड़ा खामियाजा दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रवेश के लिए ओ बी सी के छात्रों के साथ किया जा रहा है. इसी के लिए एक प्रदर्शन दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर दिनांक ११ जुलाई २०११ को करने जा रहे हैं दिल्ली विश्वविद्यालय में. जिसमें उनकी प्रमुख मांगें होंगी-
  • दिल्ली यूनिवर्सिटी में ओबीसी कोटा पूरी तरह लागू करो
  • दिल्ली यूनिवर्सिटी में ओबीसी सीटों को सवर्ण सीट में कनवर्ट करना बंद करो
  • ओबीसी का दुश्मन ब्राह्मणवादी वीसी दिनोश सिंह मुर्दाबाद
  • 27% संवैधानिक OBC कोटा लागू करो
  • ओबीसी के खिलाफ सरकारी पैसे से मुकदमा लड़ने वाला ब्राह्मणवादी वीसी दिनेश सिंह शर्म करो
  • अपनी जाति दिखाने वाला ओबीसी विरोधी ब्राह्मणवादी वीसी दिनेश सिंह मुर्दाबाद
  • ओबीसी का 27% कोटा चाहिए, इसी साल चाहिए, अभी चाहिए
  • ब्राह्मणवादी वीसी दिनेश सिंह मुर्दाबाद









3 टिप्‍पणियां:

  1. nalayak baap ki layak aoulad VC dinesh sing........layak baap ki nalayak aoulad amarnath yatra par hai.......

    उत्तर देंहटाएं
  2. ये हुई ना बात ...मर्दों वाली ..

    उठो शेर मारो दहाड़
    धरती हिले काँपे पहाड़
    अन्याय जहां और लूट मचे
    हक़ देने पर पाबंदी हो
    जब साफ़ दिखाई दे सबको
    सरकार ये फिर भी अंधी हो
    जब आग लगी हो सीने
    कर के फूफार आगे बढ़ो
    हुंकार मार सब दो पछाड़
    धरती हिले काँपे पहाड़ .............रवि विद्रोही

    उत्तर देंहटाएं
  3. OUR O.B.C. POLTICIAN DO NOT OPEN MOUTH,THEY ASK ONLY VOTE ONLY BUT THEY DO NOT FIGHT FOR RIGHT OF O.B.C. IT IS VERY SHAMEFUL THING,DO NOT VOTE THEM.DILIP MANDAL IS PURELY NON POLTICAL PERSON BUT HE HAVE HONEST FEELING FOR BACKWARD,SC,ST COMMUNITY,BCZ THEY WANT TO SEE STRONG INDIA SO I CAN SAY DILIP MANDAL IS GREAT SON OF THIS COUNTRY,HIS SELF-LESS SERVICE TO THE NATION,I REGARD SUCH A PERSON.DEAR O.B.C. BROTHER ITS OUR MORAL RESPONSIBILITY TO FIGHT WITH ,WHO HAVE DIRTY MENTALITY AND WANT TO PREVENT YOU,THEY ARE ENEMY OF OUR COUNTRY,NOW IT IS TIME TO ELMINATE HIM.

    उत्तर देंहटाएं

एकात्म मानवतावाद

कुछ विद्वान मित्रों का मानना है कि भाजपा की तरफ आम लोगों का आकर्षण बढ़ रहा है और वह इसलिए कि उन लोगों के मन में उनमें  हिंदू होने का म...