बुधवार, 27 अप्रैल 2011

पहले गोली मारी, फिर साइकिल पर लादकर गांव भर घुमाया Written by Dalitmat






Wednesday, 27 April 2011 09:19
इसे शायद ‘मैनुफैक्चरर डिफेक्ट’ कहना ज्यादा सही होगा. क्योंकि इस तरह की घटना उस घटियापने को दर्शाता है जो वर्षों से कुछ खास लोगों के खून में घुली हुई है. मुजफ्फरनगर के निरगाजनी गांव में ऐसी ही एक घटना घटी, जिसमें गेंहू काटने से इंकार करने पर एक सवर्ण ने एक दलित की गोली मारकर हत्या कर दी. फिर उसे साइकिल पर रखकर गांव भर में घुमाया. यही नहीं उस हरामी ने पिता की मौत के बाद सदमे में पड़े उसके बेटे को भी जमकर पीटा. मरने वाले का नाम करमचंद है. घटना तब घटी जब करमचंद अपने बेटे के साथ अपने खेतों में सिंचाई कर रहा था. उसी समय दंभी दबंग अपने परिवार के साथ वहां पहुंच गया. आते ही इनलोगों ने बाप-बेटे को पीटना शुरू कर दिया. पूरे परिवार से घिरा करमचंद जान बचाने के लिए पास स्थित मंदिर की छत पर चढ़ गया. हमलावरों ने मंदिर की छत पर ही गोली मारकर उसकी हत्या कर दी. हत्या के बाद शव को गंगनहर में फेंक कर फरार हो गए. गौरतलब है कि कुछ दिन पहले करमचंद ने इनलोगों के खेत में गेहूं काटने से मना कर दिया था, जिसके कारण वह गुस्से में थे.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

एकात्म मानवतावाद

कुछ विद्वान मित्रों का मानना है कि भाजपा की तरफ आम लोगों का आकर्षण बढ़ रहा है और वह इसलिए कि उन लोगों के मन में उनमें  हिंदू होने का म...